Monthly Archives: May, 2012

बात दिल में…


घुमड़ती है जो बात दिल में…कागज पे आ जाती है…
जो जज्बात होते तो…बह जाते आंसू बन के….

Advertisements

आँख रोई ये सबने देखा…..


रब ने ये आँखों देकर बड़ा जुल्म किया…
जो देखे वही माने ये जालिम जमाना…
किसी की आँख रोई ये सबने देखा….
पर किसी का दिल भी रोया ये किसी ने न जाना…

बहुत बड़ा था ख्वाहिशो का आसमां


बहुत बड़ा था ख्वाहिशो का आसमां…
आज दो गज जमीन मिल जाये बहुत है…

आंसू भी मुस्कुराते है…


पूछते है सब हमसे अक्सर…तुम इतना क्यों खुश रहते हो…
कैसे बताये हम उन्हें …कि हमारे तो आंसू भी मुस्कुराते है…