Monthly Archives: July, 2014


जब भी कभी दिल जोरो से धड़कता है…
कोई जुबा पे ख़ामोशी रख जाता है…

Advertisements

ना जाने क्या जज़्बा लेके कोई जान देता होगा देश के लिए ,
जहा लड़ पड़ते है लोग सडक चौराहो पे तेरा-मेरा कहते हुए !!!


मरती तो उम्मीदे है..ख्वाब कभी मरा नहीं करते !!!


घिसी तो नीम की छाल भी और चंदन की डाल भी,
नसीब था की कोई माथे चढ़ा तो कोई जख्मों में पड़ा!!!