Monthly Archives: December, 2014

सुकून


अब ख्वाबो में भी नींदे है, और निँदो में जूनून है…
जागती हु सोयी सी… कैसा ये सुकून है…!!!

Advertisements